Hindustan Hindi News

[ad_1]

10 अगस्त को मंगल राशि परिवर्तन करने जा रहे हैं। रक्षा बंधन से पहले होने वाला यह राशि परिवर्तन कई मायनों में खास होगा। 10 अगस्त 2022 दिन बुधवार को प्रातः 6:50 के बाद मंगल अपनी राशि मेष से शुक्र की पहली राशि वृष में जाएंगे। इस राशि परिवर्तन से सिंह से लेकर मीन राशि तक के लोगों के लिए बहुत शुभ रहने वाला है।

इसे भी पढ़ें:  मंगल का राशि परिवर्तन, इन राशियों का भाग्य चमकेगा

सिंह :सिंह लग्न वालों के लिए मंगल भाग्य एवं सुख भाव के कारक ग्रह होकर दशम भाव में गोचर करेंगे। परिणाम स्वरूप भाग्य में वृद्धि । व्यय में वृद्धि । पराक्रम में वृद्धि। क्रोध में वृद्धि । गृह एवं वाहन सुख में वृद्धि।संतान पक्ष से शुभ समाचार की स्थिति। पिता के सहयोग सानिध्य में वृद्धि । कार्यस्थल पर सम्मान एवं पद प्रतिष्ठा में वृद्धि की स्थिति का संयोग बनेगा। इस अवधि में क्रोध पर नियंत्रण करते हुए मूल कुंडली के अनुसार मूंगा रत्न धारण करना श्रेष्ठ फल प्रदायक होगा।


कन्या : कन्या लग्न वालों के लिए मंगल अष्टम एवं पराक्रम के कारक होकर भाग्य भाव में गोचरीय संचरण करने जा रहे हैं। परिणाम स्वरूप पराक्रम में वृद्धि । सामाजिक दायरे में वृद्धि । क्रोध में तीव्रता । माता के स्वास्थ्य को लेकर थोड़ी चिन्ता में वृद्धि। सुख में कमी महसूस हो सकता है। यात्रा खर्च सहित अन्य खर्च में वृद्धि। भाग्य में थोड़ा अवरोध की स्थिति । श्री हनुमान जी की पूजा आराधना शुभफल प्रदायक होगा।


तुला :- तुला लग्न वालों के लिए मंगल सप्तम एवं धन भाव के कारक हो करके अष्टम भाव में गोचर करने जा रहे हैं । ऐसी स्थिति में व्यापारिक लाभ में वृद्धि के साथ धनागम में भी वृद्धि । पारिवारिक कार्यों में वृद्धि। वाणी में तीव्रता । पेट की समस्या । भाई बहनों मित्रों का सहयोग सानिध्य प्राप्त होगा । दांपत्य जीवन एवं प्रेम संबंधों को लेकर तनाव की स्थिति उत्पन्न हो सकता है, विशेषकर स्वास्थ्यगत समस्या को लेकर। अतः मूल कुंडली के अनुसार उपाय करना लाभदायक होगा

वृश्चिक :- वृश्चिक लग्न वालों के लिए मंगल लग्नेश एवं रोगेश होकर सप्तम स्थान दांपत्य भाव में गोचर करने जा रहे हैं। प्रभाव स्वरूप मनोबल में वृद्धि। क्रोध में वृद्धि ।व्यक्तित्व में वृद्धि । वर्चस्व में वृद्धि की स्थिति के साथ-साथ राज्य सम्मान में वृद्धि। परिश्रम में वृद्धि । पिता के सहयोग सानिध्य में वृद्धि। कार्यस्थल पर प्रतिष्ठा में वृद्धि की संभावना सकारात्मक रूप से उत्पन्न होगा। वाणी पर संयम रखना एवं क्रोध पर नियंत्रण रखना विशेष रुप से महत्वपूर्ण है।


धनु :- धनु लग्न वालों के लिए मंगल व्यय एवं पंचम भाव के कारक होकर छठे भाव में गोचर करेंगे। फलतः भाग्य में सकारात्मक परिवर्तन। पिता के सहयोग सानिध्य में वृद्धि। प्रतियोगी परीक्षाओं में प्रगति की स्थिति । यात्रा खर्च का संयोग बनेगा। क्रोध में अधिकता हो सकता है अतः क्रोध पर नियंत्रण अवश्य करें । पेट की समस्या के कारण अचानक धन खर्च बढ़ सकता है अतः स्वास्थ्य पर विशेष तौर पर ध्यान दें।


मकर :- लग्न वालों के लिए मंगल सुख एवं लाभ भाव के कारक होकर पंचम भाव में गोचर करने जा रहे हैं।परिणाम स्वरूप सुख के संसाधनों में वृद्धि। माता के स्वास्थ्य में सुधार। जमीन जायदाद से संबंधित कार्यों में सकारात्मक वृद्धि । अध्ययन अध्यापन से जुड़े लोगों के लिए समय अनुकूल पद बना रहेगा। आय के साधनों में वृद्धि । पेट की समस्या इस अवधि में तनाव उत्पन्न कर सकता है अतः खान पान पर ध्यान देते रहे। श्री हनुमान जी महाराज की आराधना शुभ फल प्रदान होगा।

कुम्भ :- कुंभ लग्न वालों के लिए मंगल पराक्रम एवं राज्य के कारक होकर सुख भाव में गोचर करने जा रहे हैं।अतः गृह वाहन के साथ-साथ सुख के संसाधनों में सकारात्मक वृद्धि करेंगे। माता के स्वास्थ्य को लेकर थोड़ा सुधार होगा। क्रोध में अचानक वृद्धि हो सकता है । परिश्रम में वृद्धि । सामाजिक पद प्रतिष्ठा में वृद्धि ।कार्यस्थल पर प्रतिभा का पूर्ण उपयोग कर पाएंगे । दांपत्य जीवन में क्रोध के कारण मनमुटाव की स्थिति उत्पन्न हो सकता है । पराक्रम में वृद्धि एवं आय के संसाधनों में सुधार होगा।


मीन :- मीन लग्न वालों के लिए मंगल भाग्य एवं धन के कारक होकर पराक्रम भाव में गोचर करने जा रहे हैं।परिणाम स्वरूप पराक्रम में वृद्धि। सम्मान में वृद्धि। भाई बंधुओं मित्रों का सहयोग एवं सानिध्य प्राप्त होगा । शत्रुओं पर विजय की स्थिति। पुराने रोगों से मुक्ति की स्थिति उत्पन्न होगा । कार्यों में भाग्य का साथ प्राप्त होगा ।पिता के स्वास्थ्य में सुधार एवं सान्निध्य प्राप्त होगा ।सामाजिक गतिविधियों में वृद्धि की स्थिति उत्पन्न होगा ।मूल कुंडली के अनुसार मंगल को मजबूत करने का उपाय अवश्य करें।

[ad_2]

Source link

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *